What is 802.11n: 802.11n क्या है?

802.11n

802.11n एक Wi-Fi standard को बोलते है जिसे हम लोग जानते है की इसे introduce किया गया IEEE के द्वारा सन 2007 में किया गया है और इसे officially भी publish किया गया है सन 2009 में. ये support करता है एक longer-range और higher wireless transfer रेट्स को इसकी previous standard है जो की 802.11g की तुलना में.

802.11n एक devices support करता है जो MIMO (multiple in, multiple out) data ट्रांसफर्स करने में मदद करता है, जो एक ही समय में multiple streams की data को भी हम transmit कर सकते है . ये technology effectively double कर देती है और एक wireless device के range को भी.

खास तौर पर एक wireless router का जो की हम उपयोग करते है 802.11n को उसकी कवरेज की radius दुगनी तक होती है जितनी की एक 802.11g router की भी होती है. इसका मतलब खास तौर पर ये हैं की एक single 802.11n router बड़ी ही आसानी से एक entire household को आसानी से cover कर सकता है, वही एक 802.11g router को जरुरत भी पड़ सकती है additional routers की signal को bridge करने में मददगार साबित होता है .

पहले की बात करे तो 802.11g standard को support करते थे वो भी transfer रेट्स और up to 54 Mbps. लेकिन Devices जो की उपयोग करते हैं 802.11n को आसानी से data transfer कर सकते है over 100 Mbps. वही मने तो एक optimized configuration से, ये 802.11n standard theoretically को ही support कर सकता है वही transfer rates करीब 500 Mbps तक. जो की पांच गुना से भी ज्यादा faster होता है एक standard 100Base-T wired Ethernet network की तुलना में भी.

इसलिए अगर आपका कोई residence wired न भी हो तो एक Ethernet network, इसमें कोई खास बात नहीं है. क्यूंकि Wireless technology बड़ी ही आसानी से एक wired network को आसानी से टक्कर दे सकती है वो भी speed के मामले में.

इस बात का असल में ख्याल रखें की faster speeds और larger range के होने से जो की 802.11n प्रदान करता है, ये खास उतना ही महत्वपूर्ण बन जाता है की आप अपने wireless network को password protected रख सकते है.

Leave a Reply