Cable Modem कैसे काम करता है ?

कोई भी cable modem असल में एक ऐसा ही peripheral device भी होता है जिसका उपयोग हम Internet से connect होने के लिए होता है.

ये अब operate करता है coax cable TV lines के ऊपर और वही ये प्रदान करता है बहुत ही high-speed Internet access भी. चूँकि cable modems अब offer ये भी करते हैं की always-on connection (24×7) और साथ में वही पर fast data transfer rates भी, इसलिए इन्हें broadband devices भी कहा जा सकता है.

RJ45-port-238-sarkari-result

Dial-up modems की बात करे तो, जो की एक समय में काफी ही popular हुआ करते थे जब Internet की शुरुवात ही हुई थी, उस समय वो सारे offer करती थी speeds जो की करीब 56 Kbps था वो भी analog telephone lines के माध्यम से होता था. वही बाद में DSL और cable modems ने उनका स्थान भी ले गए, उन्होंने dial-up modems का स्थान बा पूरी तरह ख़तम ही हो गया। और उनसे कहीं ज्यादा और faster speeds भी अब offer करते हैं.

पहले के cable modems भी download और upload speeds प्रदान करते थे वो भी केवल 1 से 3 Mbps तक ही होता थी, जो की करीब 20 से 60 गुना अधिक तक का होता था उस समय के fastest dial-up modems की तुलना में कही अच्छा ही था। .

आज के समय की बात करे तो एक standard cable भी जो की अब Internet access की सेवा भी प्रदान करता है वही पर उसकी speeds range है करीब 25 से 50 Mbps के बीच भी होती है। .

ज्यादातर में cable modems में एक standard RJ45 port भी लगा होता है जो की उसे connect भी करता है वो भी Ethernet port के साथ आपके computer या router में कनेक्ट करता है। .

अभी के समय में बहुत से घरों में आपको ऐसे बहुत से Internet-enabled devices भी बारे ही आसानी से मिल जायेंगे, इसलिए अभी cable modems को typically उसे connect भी किया जाता है वो भी एक home router के साथ, जो की वो allow भी करता है सारे multiple devices को access करने के लिए Internet को. वही कुछ और भी cable modems में अब एक built-in wireless router भी अब आने लगा है, जिससे आपको एक ओर दूसरी device की कोई भी जरूरत ही नहीं पड़ती है.

NOTE वैसे “cable modem” में ये शब्द “modem” का उपयोग तो होता है लेकिन ये एक traditional modem (जो की short है Modulator / Demodulator का) के तरह काम भी ये नहीं करता है. Cable modems information को digitally ही send और receive भी बारे आसानी के साथ करते हैं, इसलिए एक analog signal को modulate करने की कोई भी खाश जरुरत भी नहीं होती है.

Leave a Reply